मध्य प्रदेश जीके madhya pradesh gk in hindi 50 important

madhya pradesh gk, madhya pradesh gk latest, madhya pradesh gk 2020 मध्य प्रदेश जीके के महत्वपूर्ण तथ्य madhya pradesh GK facts in hindi, मध्य प्रदेश जीके
Madhya Pradesh Gk, मध्य प्रदेश जीके


मध्य प्रदेश जीके ) madhya pradesh gk important facts Madhya Pradesh ke kisi bhi competition exam ke liye jaruri hain

madhya pradesh gk, madhya pradesh gk latest, madhya pradesh gk 2020 मध्य प्रदेश जीके के महत्वपूर्ण तथ्य madhya pradesh GK facts in hindi, मध्य प्रदेश जीके
मध्य प्रदेश जीके madhya pradesh GK

Important facts for madhya pradesh gk ( मध्य प्रदेश जीके ) -:

1. मध्य प्रदेश के प्रसिद्ध रंगमंच कलाकारों में बंसी कौल, हबीब तनवीर, सत्यदेव दुबे के नाम प्रमुख हैं।

2. मध्यप्रदेश में रंगमंच परंपरा की शुरुआत करने का श्रेय कमलादेवी चट्टोपाध्याय को जाता है।

3. गम्मत नाट्य परंपरा मध्य प्रदेश के निमाड़ अंचल में प्रचलित है।

4. खम्ब स्वांग लोकनाट्य कोरकू आदिवासियों द्वारा किया जाता है इसमें पुरुष कलाकार स्त्री के वेश में विभिन्न मुद्राओं में नृत्य करते हैं।

5. तानसेन का जन्म ग्वालियर जिले के बेहट ग्राम में 1506 ईसवी में हुआ था इनका वास्तविक नाम रामतनु पांडे था।

6. तानसेन ने संगीत की आरंभिक शिक्षा स्वामी हरिदास से ली तथा इसके बाद वह रीवा के राजा रामचंद्र के दरबार में शामिल हुए ।

7. तानसेन का देहांत आगरा में हुआ लेकिन इनकी इच्छा अनुसार इन का मकबरा सूफी संत मोहम्मद गौस की ग्वालियर स्थित समाधि के बगल में बनाया गया ।

8. सरोद वादक उस्ताद अलाउद्दीन खान का जन्म त्रिपुरा में 1881 में हुआ था। इन्होंने सरोद वादन की आरंभिक शिक्षा उस्ताद अली अहमद खान तथा उस्ताद वजीर से प्राप्त की।

9. उस्ताद अलाउद्दीन खान अपने बाद के वर्षों में मध्यप्रदेश में मैहर के महाराजा बृजनाथ सिंह के दरबार में रहे और यही पर बस गए। इन की स्मृति में प्रत्येक वर्ष मैहर में उस्ताद अलाउद्दीन खां समारोह का आयोजन किया जाता है।

10. संगीतज्ञ कृष्णराव पंडित का जन्म 1893 ईस्वी में मध्य प्रदेश के ग्वालियर में हुआ। इनके गुरु का नाम मोहम्मद निसार हुसैन था। संगीत की बोलतान शैली में कृष्णराव पंडित को विशेष योग्यता प्राप्त थी।

11. निरगुड़िया गायन शैली मध्य प्रदेश के निमाड़ और मालवा क्षेत्र में  प्रचलित है इस गायन शैली की शुरुआत सिंगाजी के द्वारा की गई थी।

12. “भरथरी” नाथपंथ के लोगों द्वारा गाए जाने वाला गीत है। यह मालवा अंचल में प्रचलित है।

13. बुंदेलखंड के प्रसिद्ध आल्हा गायन में आल्हा एवं ऊदल की वीरता का वर्णन किया जाता है।

14. बघेलखंड की पांडवानी गायन शैली में पांडवों की कथा का वर्णन किया जाता है। तीजनबाई तथा झाडूराम देवांगन इस गायन शैली से संबंधित कलाकार है।

15. राई नृत्य बुंदेलखंड क्षेत्र में विवाह, पुत्र-जन्म आदि के अवसर पर किया जाता है। राई नृत्य का आयोजन समाज के लिए प्रतिष्ठा का विषय होता है।

16.कालिदास की प्रमुख रचनाएं निम्नलिखित हैं।
  अभिज्ञान शाकुंतलम्, विक्रमोर्वशीयम्, मालविकाग्निमित्रम्, रघुवंशम्,
  कुमारसम्भवम् , मेघदूत, ऋतुसंहार।

17.छायावादी कवि गजानन माधव मुक्तिबोध का जन्म मध्यप्रदेश के श्योपुर जिले में सन 1917 में हुआ था।
इनकी प्रमुख रचनाएं हैं – चांद का मुंह टेढ़ा है, एक साहित्यिक डायरी, कामायनी एक पुनर्विचार आदि ।

18. हरिशंकर परसाई का जन्म मध्य प्रदेश के इटारसी के नजदीक स्थित जमानी नामक गांव में हुआ था।
इनकी महत्वपूर्ण रचनाएं हैं – बोलती रेखाएं, एक लड़की पांच दीवाने, तट की खोज, ज्वाला और बल, निठल्ले की डायरी आदि।

19. खजुराहो में प्रमुख मंदिर हैं – कंदरिया महादेव का मंदिर, चौसठ योगिनी मंदिर, विश्वनाथ मंदिर, पार्श्वनाथ मंदिर, चतुर्भुज मंदिर आदि।

20. मध्य प्रदेश का सबसे कम जनसंख्या वाला जिला हरदा है।

21. जबलपुर को त्रिपुरी के नाम से भी जाना जाता था। यह कलचुरी वंश की राजधानी रहा है।

22. भारत का पहला झंडा सत्याग्रह 1923 में जबलपुर से आरंभ हुआ था।

23. जबलपुर को मध्यप्रदेश की संस्कार राजधानी तथा संगमरमर की नगरी भी कहा जाता है।

24. मध्य प्रदेश का पहला रत्न परिष्कृत केंद्र जबलपुर में स्थापित किया गया है।

25. मध्य प्रदेश का पहला कृषि विश्वविद्यालय जबलपुर में ही स्थापित किया गया था।

26. मध्य प्रदेश के सतना जिले के भरहुत में अशोक के स्तूप के अवशेष प्राप्त हुए हैं। इसकी खोज अलेक्जेंडर कनिंघम ने की थी।

27. बालाघाट जिले के भरवेली में मैंगनीज खदान स्थित है। इसलिए बालाघाट को मैंगनीज नगरी भी कहा जाता है।

28. बालाघाट में स्थित मलाजखंड भारत का सबसे बड़ा तांबा उत्पादक स्थल है। मलाजखंड को तांबा नगरी भी कहा जाता है।

29. सन् 1946 में मध्य प्रदेश का पहला विश्वविद्यालय सागर में स्थापित किया गया था। 1983 में इसका नाम हरिसिंह गौर विश्वविद्यालय कर दिया गया। तथा इसे केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा सन् 2008 में प्राप्त हुआ।

30. जवाहरलाल नेहरू पुलिस अकादमी मध्य प्रदेश के सागर जिले में स्थित है।

31. मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा अभ्यारण नौरादेही अभ्यारण सागर जिले में ही स्थित है।

32. मुगल काल में विदिशा को आलमगीरपुर कहा जाता था। 1952 में भारत के राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद ने इसका नाम विदिशा कर दिया। प्राचीन काल में विदिशा को बेसनगर, भेलसा या महावालिस्तान कहा जाता था।

33. विदिशा के उदयगिरी की गुफाएं गुप्तकालीन हैं। इन गुफाओं के द्वार पर विष्णु भगवान की वराह अवतार की प्रतिमा है। यहां वीरसेन साव का अभिलेख भी है।

34. विदिशा में हलाली नदी पर हलाली परियोजना (सम्राट अशोकसागर परियोजना) स्थित है।

35. मध्यप्रदेश के बुरहानपुर में स्थित असीरगढ़ किले को ‘दक्कन का दरवाजा’ के नाम से जाना जाता है। 1601 में अकबर ने अपनी अंतिम विजय में असीरगढ़ का किला जीता था।

36. मध्य प्रदेश के बुरहानपुर को बुनकरों का नगर भी कहा जाता है।

37. मध्यप्रदेश में सबसे अधिक लाख उत्पादन उमरिया जिले में होता है।

38. भारत की पहली किन्नर विधायक शबनम मौसी मध्य प्रदेश के सोहागपुर विधानसभा क्षेत्र (शहडोल जिला) से चुनाव जीती थी।

39. बांधवगढ़ नेशनल पार्क उमरिया जिले में स्थित है। यह पार्क 32 पहाड़ियों से घिरा है।

40. क्षेत्रफल की दृष्टि से मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा जिला छिंदवाड़ा है। इसका क्षेत्रफल 11815 वर्ग किलोमीटर है।

41. छिंदवाड़ा में छिंद यानि ताड़ के पेड़ बहुत संख्या में उपस्थित हैं। इसलिए इसका नाम छिंदवाड़ा पड़ा। किसी समय में यहां पर शेरों की संख्या बहुत ज्यादा थी इसलिए इसे पहले सिन्हवाड़ा भी कहा जाता था।

42. कुंडलपुर जैन तीर्थ स्थान दमोह जिले में स्थित है।

43. दमोह जिले को पीतल नगरी के नाम से भी जाना जाता है।

44. मध्य प्रदेश का सबसे छोटा नेशनल पार्क डिंडोरी जिले में स्थित है।यह एक जीवाश्म पार्क है। जो मात्र 270 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ।

45. डिंडोरी जिला मध्य प्रदेश का सबसे कम जनसंख्या घनत्व वाला जिला है। इसका जनसंख्या घनत्व 94 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है।

46. मध्य प्रदेश के कटनी जिले को ‘चूना नगरी’ या ‘चूना पत्थर के शहर’ के नाम से भी जाना जाता है।

47. राजगढ़ जिले के ‘चिड़ी खो’ को  मालवा का कश्मीर भी कहा जाता है।

48. कटनी जिले के रूपनाथ नामक स्थान पर पाली भाषा में लिखित सम्राट अशोक का मौर्यकालीन अभिलेख प्राप्त हुआ है।

49. मुक्तागिरी जैन तीर्थ स्थान बैतूल जिले में स्थित है। यहां पर जैन धर्म के 56 मंदिर स्थित हैं ।

50. भारत की पहली किन्नर महापौर कमला जान कटनी से ही निर्वाचित हुई।


ऊपर दिए गए सभी तथ्य मध्य प्रदेश जीके (madhya pradesh gk important facts ) प्रतियोगिता की परीक्षाओं में बेहतर परिणाम पाने की दृष्टि से अति महत्वपूर्ण हैं।

hindi online jankari ke manch par madhya pradesh gk ( मध्य प्रदेश जीके ) ke important facts padhne ke liye dhanyavaad. umeed hai aapko madhya pradesh gk ki ye post sahi lgi hogi. agar is post me kisi bhi prakar ki koi galti ho to comment kar ke jarur batayen.

madhya pradesh ke competition exam me madhya pradesh gk se ralated questions lagbhag 25% se 30% tak hote hain. aur in questions ko kisi bhi sthithi me ignore nahin kiya ja sakta hai. isliye madhya pradesh gk ki tayiyari kijiye hindi online jankari ke sath.

madhya pradesh gk ( मध्य प्रदेश जीके ) ke aur bhi post padhne ke liye aap neeche diye gye link par ja sakte hain.

MP GK LATEST

MP RIVERS MP WATERFALLS IMPORTANT

mahatma gandhi ke motivational quotes padhne ke liye neeche diye gye link par click karen.

-: mahatma gandhi quotes

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.