You are currently viewing Masala Bond in Hindi

Masala Bond in Hindi

हिन्दी ऑनलाइन जानकारी के मंच पर आज हम जानेंगे मसाला बॉन्ड के बारे में जानकारी Masala Bond in Hindi, Masala Bond upsc in Hindi, Masala Bond kya hai ?, मसाला बॉन्ड क्या होता है ?

Masala Bond in Hindi, मसाला बॉन्ड क्या होता है ? -:

~ मसाला बॉन्ड भारतीय कंपनियों द्वारा भारत के बाहर जारी रुपए – नामित ऋण प्रतिभूतियां ( Rupee – denominated debt securities ) हैं। मसाला बॉन्ड भारतीय मुद्रा से नियंत्रित होते हैं।

~ मसाला एक भारतीय शब्द है। मसाला बॉन्ड नाम का सुझाव भी IFC ने दिया था। इस शब्द का उपयोग अंतर्राष्ट्रीय वित्त निगम (IFC) द्वारा भारत की संस्कृति और व्यंजनों को बढ़ावा देने के लिए किया गया था।

~ मसाला बॉन्ड को सबसे पहले विश्व बैंक समूह के सदस्य अंतर्राष्ट्रीय वित्त निगम (IFC) द्वारा भारत में आधारभूत संरचना को विकसित करने के लिए 10 नवंबर 2014 को जारी किया था।

~ भारतीय कंपनियां विदेशों से कई सारे तरीकों द्वारा पूंजी जुटाने का काम करती हैं। मसाला बॉन्ड भी विदेशों से पूंजी जुटाने का एक तरीका है।

~ यह एक कॉर्पोरेट बांड होता है। जिसे भारतीय रुपए में अंतरराष्ट्रीय बाजार में जारी किया जाता है। मसाला बांड के पहले भारतीय कंपनियां, विदेशी निवेश के लिए डॉलर में बॉन्ड जारी करती थी। डॉलर के मूल्य में उतार-चढ़ाव होने का नुकसान भारतीय कंपनियों को उठाना पड़ता था।

~ कोई भी निगम, कॉरपोरेट निकाय और भारतीय बैंक विदेशों में रुपए मूल्य वर्ग के मसाला बॉन्ड्स जारी करने हेतु पात्र हैं।

~ मसाला बॉण्डों को जारी करने की रूपरेखा भारतीय रिजर्व बैंक की बाहरी वाणिज्यिक उधार नीति ( External Commercial Borrowings-ECB ) के अंतर्गत आती है।

~ मसाला बांड्स केवल किसी देश में जारी किए जा सकते हैं। और इसे केवल वित्तीय कार्यवाही कार्य बल ( FATF ) के उन सदस्य देशों के निवासियों द्वारा सब्सक्राइब किया जा सकता है। जिनका प्रतिभूति बाजार नियामक इंटरनेशनल ऑर्गेनाइजेशन ऑफ सिक्योरिटीज कमीशन का हस्ताक्षरकर्ता है।

~ मसाला बॉन्ड की न्यूनतम परिपक्वता अवधि 3 वर्ष है। यदि मसाला बॉन्ड 50 अरब अमेरिकी डॉलर से ज्यादा है तो यह अवधि 5 वर्ष है।

~ पूर्व अनुमोदन के बिना भारतीय कंपनियां मसाला बांड्स के माध्यम से 50 अरब अमेरिकी डॉलर प्रति वर्ष के बराबर राशि जुटा सकती हैं। यदि कंपनियां इस सीमा से अधिक रुपया जुटाना चाहतीं हैं तो उन्हें भारतीय रिजर्व बैंक की अनुमति लेनी होगी।

~ मसाला बॉन्ड लंदन स्टॉक एक्सचेंज में भी सूचीबद्ध हैं।

~ मसाला बांड्स के द्वारा जुटाया गया रुपया पूँजी बाजार, रियल एस्टेट और भूमि की खरीद के लिए इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है।

~ मसाला बॉन्ड जारी करने वाली पहली भारतीय कंपनी HDFC ने जुलाई 2016 में मसाला बॉन्ड से 3,000 करोड़ रुपये जुटाए थे।

~ सार्वजनिक क्षेत्र की इकाई NTPC ने अगस्त 2016 के महीने में 2,000 करोड़ रुपये का पहला कॉर्पोरेट ग्रीन मसाला बांड जारी किया था।

~ मसाला बॉण्ड जारी करने वाला पहला भारतीय राज्य केरल है। केरल इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट फंड बोर्ड ने लंदन स्टॉक एक्सचेंज में 2,150 करोड़ रुपए का मसाला बॉण्ड जारी किया है।

Thank you for reading मसाला बॉन्ड के बारे में जानकारी Masala Bond in Hindi, Masala Bond upsc in Hindi, Masala Bond kya hai ?, मसाला बॉन्ड क्या होता है ?

अन्य लेख -:

Please do subscribe -: Youtube Channel

Leave a Reply