You are currently viewing Sebi in hindi – Securities and Exchange Board of India

Sebi in hindi – Securities and Exchange Board of India

हिन्दी ऑनलाइन जानकारी के मंच पर आज हम जानेंगे सेबी के बारे में जानकारी SEBI in Hindi, SEBI upsc in Hindi, SEBI kya hai ?, SEBI full form in hindi, SEBI meaning in hindi, Securities and Exchange Board of India in hindi, Securities and Exchange Board of India upsc in hindi, सेबी क्या है ?

सेबी क्या है ? What is Sebi in Hindi -:

~ सेबी एक बाजार नियामक / Market Regulator है। सेबी एक अर्ध-विधायी और अर्ध-न्यायिक निकाय है जो विनियमों का मसौदा तैयार करता है, नियम पारित करता है तथा अर्ध न्यायिक निकाय के रूप में कार्यवाही भी कर सकता है।

~ सेबी ( SEBI – Securities and Exchange Board of India ) अर्थात् भारतीय प्रतिभूति और विनियम बोर्ड की स्थापना 12 अप्रैल 1988 को एक गैर संवैधानिक निकाय के रूप में हुई थी। सेबी की स्थापना के बाद 30 जनवरी 1992 को भारत सरकार द्वारा संसद में भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड अधिनियम, 1992 ( Securities and Exchange Board of India Act, 1992 ) के प्रावधानों के तहत सेबी को एक संवैधानिक दर्जा दिया गया।

~ सेबी का कार्य बाजार में शामिल कंपनी, ब्रोकर, बैंक तथा अन्य संस्थाओं पर निगरानी और नियंत्रण रखना है। भारतीय प्रतिभूति और विनियम बोर्ड Stock Exchange के कार्यों पर नियंत्रण रखता है।

~ सेबी का मुख्यालय मुंबई में स्थित है। और सेबी के कुछ क्षेत्रीय कार्यालय भी हैं जो दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता और अहमदाबाद में स्थित है।

~ सेबी बोर्ड में एक अध्यक्ष के अतिरिक्त कई पूर्णकालिक और अंशकालिक सदस्य होते हैं है। इसमें वित्त मंत्रालय एवं कानून मंत्रालय के एक – एक सदस्य, भारतीय रिजर्व बैंक का एक सदस्य तथा दो सदस्यों की नियुक्ति भारत सरकार करती है। सेबी चेयरमैन सहित इसके पूर्णकालिक सदस्यों की संख्या 4 है।

~ सेबी के अध्यक्ष की नियुक्ति भारत सरकार के द्वारा की जाती है। सेबी का अध्यक्ष पांच वर्ष की अवधि के लिए या 65 वर्ष की आयु तक या अगले आदेश तक नियुक्त किया जाता है। अतः सेबी के अध्यक्ष का कार्यकाल तय नही है।

~ सेबी की स्थापना के समय सेबी की प्रारंभिक पूंजी 7.5 करोड़ थी। और यह पूंजी भारत की तीन प्रमुख कंपनियों IDBI, ICICI और IRCI द्वारा प्रदान की गई थी।

~ भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड ( सेबी ) की उद्देशिका में सेबी के मूल कार्यों में प्रतिभूतियों ( सिक्योरिटीज़ ) में निवेश करने वाले निवेशकों के हितों का संरक्षण, प्रतिभूति बाज़ार ( सिक्योरिटीज़ मार्केट ) के विकास का उन्नयन करना तथा उसे विनियमित करना और उससे संबंधित या उसके आनुषंगिक विषयों का प्रावधान करना शामिल है।

~ सेबी स्टॉक एक्सचेंज, मर्चेंट बैंक, म्यूचुअल फंड, रजिस्ट्रार, दलालों, उपदलालों इत्यादि का पंजीकरण करता है।

~ सेबी के अस्तित्त्व में आने से पहले पूंजीगत मुद्दों का नियंत्रक नियामक प्राधिकरण था। इसे पूंजी मुद्दे ( नियंत्रण ) अधिनियम, 1947 से अधिकार प्राप्त थे।

~ भारत में पूंजी बाज़ार के नियामक के रूप में सेबी का गठन अप्रैल 1988 में भारत सरकार के एक प्रस्ताव के तहत किया गया था। प्रारंभ में भारतीय प्रतिभूति और विनियम बोर्ड एक गैर-वैधानिक निकाय था। भारतीय प्रतिभूति और विनियम बोर्ड अधिनियम, 1992 के माध्यम से इसे वैधानिक शक्तियाँ प्रदान की गईं।

~ 25 जनवरी 1995 को सरकार द्वारा पारित एक अध्यादेश के द्वारा पूंजी के निर्गमन, प्रतिभूतियों के हस्तांतरण तथा अन्य संबंधित मामले के संबंध में सेबी को नियंत्रक शक्ति प्रदान कर दिया गया है। वर्तमान कानून और नियंत्रणों में परिवर्तन के संबंध में सेबी अब एक स्वायत संस्था है। और अब उसे सरकार से अनुमति लेने की आवश्यकता नहीं होती है।

~ सेबी के निर्णय से असंतुष्टों के हितों की रक्षा के लिये एक प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण – सैट ( Securities Appellate Tribunal – SAT ) का गठन भी किया गया है। प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड अधिनियम, 1992 के प्रावधानों के तहत स्थापित एक वैधानिक निकाय है। यदि कोई व्यक्ति SAT के निर्णय अथवा आदेश से असंतुष्ट है तो वह सर्वोच्च न्यायालय में अपील कर सकता है।

~ अगर कोई कंपनी या संस्थान आपके साथ धोखाधड़ी करे। तो आप सेबी में शिकायत दर्ज करा सकते हैं। सेबी में शिकायत करने के लिए आप www.sebi.gov.in या www.scores.gov.in पर जाएं।

SEBI Full Form in Hindi ?

SEBI Full Form in Hindi : Securities and Exchange Board of India

SEBI Meaning in Hindi ?

SEBI Meaning in Hindi : भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड

सेबी के वर्तमान अध्यक्ष कौन है 2021

श्री अजय त्यागी

अन्य लेख -:

Please do subscribe -: Youtube Channel

Leave a Reply